• Sat. Nov 26th, 2022

Meal Plans – Popular Recipes | dinnermake.com

Using weekly meal plans is a great way to save money and cook healthier

नीरज चोपड़ा के सिल्वर मेडल की ये बातें आपको कोई नहीं बताएगा

ByDinner Recipes

Jul 27, 2022

नीरज चोपड़ा. ट्रैक एंड फील्ड में भारत के महानतम एथलीट. नीरज सिर्फ 24 साल की उम्र में ग्रेटेस्ट ऑफ ऑल टाइम बोले तो GOAT बन चुके हैं. टोक्यो ओलंपिक्स में गोल्ड जीतने के बाद नीरज ने वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल अपने नाम कर लिया है. ये बात तो आप जानते ही हैं. और आपके साथ पूरी दुनिया भी जानती है.

इसीलिए आज हम आपको इस इवेंट से जुड़ी वो बातें बताएंगे, जो कम ही लोगों को पता होंगी. और इन बातों की शुरुआत होगी वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप से.क्या है वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप?इन गेम्स के बारे में इन्हें आयोजित कराने वाली संस्था वर्ल्ड एथलेटिक्स की वेबसाइट पर दी गई परिभाषा कुछ इस तरह है,

बता दें कि यह गेम्स हर साल आयोजित किए जाते हैं. इस बार यह इवेंट अमेरिकी स्टेट ओरेगॉन के यूजीन शहर में आयोजित हुआ था. और यहीं पर नीरज ने जैवलिन थ्रो में सिल्वर मेडल जीता. अगली वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप हंगरी की राजधानी बूडापेस्ट में होगी.

# गोल्ड कौन ले गया?
ये भी आपको पता ही है. इस इवेंट का गोल्ड मिला ग्रनाडा नाम के छोटे से कैरेबियन देश के एथलीट एंडरसन पीटर्स को. पीटर्स नीरज से सिर्फ दो महीने बड़े हैं. और नीरज के साथ इनकी प्रतिद्वंद्विता साल 2016 से ही चल रही है. जब नीरज ने अंडर-20 वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था. उस रोज नीरज ने वर्ल्ड रिकॉर्ड थ्रो फेंका था. यह रिकॉर्ड आज भी नहीं टूटा. जबकि एंडरसन वहां तीसरे नंबर पर रहे थे.

साल 2018 के गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में यह दोनों फिर आमने-सामने हुए. यहां भी नीरज भारी पड़े. नीरज ने इस इवेंट का भी गोल्ड मेडल जीत लिया. इसके बाद दोनों टोक्यो ओलंपिक्स में भी मिले. जहां नीरज ने गोल्ड जीता, तो पीटर्स फाइनल के लिए क्वॉलिफाई नहीं कर पाए. और शायद यही वो पॉइंट था, जब पीटर्स ने साल 2022 की वर्ल्ड चैंपियनशिप की तैयारियां शुरू कर दीं.

इस बार डिफेंडिंग चैंपियन के रूप में उतरे पीटर्स ने साल की अपनी फॉर्म बरक़रार रखी. और गोल्ड मेडल जीत लिया. पीटरसन साल 2022 में दोहा और स्टॉकहोम डायमंड लीग्स में 90 मीटर से ज्यादा थ्रो कर चुके थे. और उन्होंने वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी यही किया. नीरज की तरह पीटर्स के भी जैवलिन उठाने की कहानी कमाल की है.

बचपन में पत्थर मार आम और सेब तोड़ने वाले पीटर्स शुरू में क्रिकेटर बनना चाहते थे. पेस बोलिंग के शौकीन पीटर्स का ख्वाब इतनी तेज गेंद फेंकने का था, कि बल्लेबाज देख ही ना पाएं. लेकिन फिर उन्होंने यूसेन बोल्ट को देखा. और स्प्रिंटर बन गए. लेकिन चोटों ने उन्हें यह करियर आगे नहीं बढ़ाने दिया. और फिर पीटर्स ने भाला उठाया. और कमाल करते चले गए.

# नीरज में कितना सुधार?
वैसे तो ये बात साफ है कि नीरज यहां पर अपना बेस्ट नहीं दे पाए. लेकिन अगर वो अपना बेस्ट देते तो क्या गोल्ड मेडल जीत पाते? जवाब है नहीं. नीरज का पर्सनल बेस्ट 89.94 मीटर है. उन्होंने यह नेशनल रिकॉर्ड स्टॉकहोम डायमंड लीग में 30 जून 2022 को बनाया था. पिछले तीन नेशनल रिकॉर्ड भी नीरज के ही नाम हैं.

उन्होंने पावो नुरमी गेम्स 2022 में 89.30 जबकि इंडियन ग्रैंड प्रिक्स 3 पटियाला में 88.07 मीटर तक भाला फेंका था. जबकि 2018 के जकार्ता एशियन गेम्स में उन्होंने भाले से 88.06 मीटर तक की दूरी नापी थी. इस बार की वर्ल्ड चैंपियनशिप में नीरज का बेस्ट थ्रो 88.39 मीटर का था. यह थ्रो उन्होंने क्वॉलिफिकेशन राउंड में फेंका था. जबकि फाइनल में उन्होंने 88.13 मीटर तक भाला फेंका.

और गोल्ड जीतने वाले एंडरसन पीटर्स ने फाइनल में 90.54 मीटर तक भाला फेंका था. जबकि क्वॉलिफाइंग में उन्होंने 89.91 मीटर तक थ्रो किया था. यानि क्वॉलिफाइंग में ही पीटर्स ने जता दिया था कि नीरज के लिए जीतना आसान नहीं होगा. हालांकि नीरज ने शुरुआती फाउल्स के बाद जैसी वापसी की, वह निश्चित तौर पर क़ाबिल-ए-तारीफ़ थी.

# भाले कहां से आते हैं?
अब जाते-जाते आपको एक बहुत बेसिक सी बात बता देते हैं. कई लोग इस पर हमारा मजाक भी बनाएंगे लेकिन ठीक है, जीवन है… सब चलता रहता है. टोक्यो ओलंपिक्स याद करिए. नीरज के पहले थ्रो में एक अजब सी हड़बड़ी थी. बाद में पता चला कि उनके थ्रो से पहले नीरज का जैवलिन पाकिस्तानी थ्रोअर अरशद नदीम के हाथ में था.

इस पर खूब बवाल भी किया गया. सोशल मीडिया पर अरशद को इतनी लानतें भेजी गईं कि नीरज को खुद सामने आकर इस पर सफाई देनी पड़ी. नीरज ने एक वीडियो ट्वीट किया था. इसमें वो बोल रहे थे,